Stress Management in Hindi

अगर आप इस कहानी को समझ जातें हें तो स्वयं को बहुत हल्का अनुभव करेंगे

इस युग में तनाव एक बड़ी समस्या है क्योंकि जीवन अब बहुत तेजी से चल रहा है,  इसलिए हम इसे संभाल नहीं पा रहे हैं, प्रकृति ने हमें अपने तनाव को प्रबंधित करने के लिए कुछ सुझाव दिए हैं।

 यदि हम अपने तनाव को संभाल नहीं पाते, तो इससे हमारा शरीर पीड़ित होगा। यदि हम अपने आप का ध्यान नहीं रखते हैं, तो दूसरा प्रभाव हमारे दिमाग पर पड़ेगा। इस युग में अवसाद एक बहुत ही आम बीमारी है, महत्वपूर्ण बात यह है कि हम अपने तनाव को कई विचारो द्वारा प्रबंधित कर सकते हैं।

 तनाव प्रबंधन अलग अलग व्यक्तियों पर अलग अलग निर्भर करता है, इस दुनिया में हर व्यक्ति की अलग अलग मानसिकता है, हर किसी की अपनी समस्याएं होती हैं जैसे कि काम का तनाव, नौकरी का तनाव, व्यवसाय का तनाव, जीवन का तनाव, पारिवारिक तनाव आदि। कई बार हम अपने तनाव को संभाल लेतें हैं| लेकिन कभी कभी हम इसे संभाल नहीं पते हैं।

 मेरे पास आपके लिए एक कहानी है यदि आप इस कहानी को समझते हैं तो आप निश्चित रूप से अपने जीवन में हल्का महसूस करेंगे।

 एक बार एक नवविवाहित लड़का अपने ससुराल अपने घोड़े पर जा रहा था। उसकी मां ने उसे ससुराल के लिए बहुत सारे उपहार दिए। वह सोचता है, उसका घोड़ा कमजोर है, वह युवा और मजबूत है।

इसलिए वह घोड़े पर सवार हो गया और उपहारो को अपने कंधों पर लटका लिया। जब वह अपने ससुराल पहुंचा, तो वह बहुत थका हुआ था और उसके कंधे दर्द से भरे थे।

उसकी पत्नी ने उसे देखा और कहा, “आप इन उपहारों को अपने कंधों पर क्यों लटका कर लाये?”

लड़के ने कहा, “मुझे लगा कि घोड़ा कमजोर है इसलिए मैं अपने कंधों पर उपहारो को लटका कर लाया हूं”।

पत्नी ने कहा, “आप सोचते हो कि आपने घोड़े को भार से बचा लिया। लेकिन आपका विचार सही नहीं है, यदि आप ठीक से सोचो तो घोड़ा आपका और उपहारो का वजन उठा रहा है, उसको राहत कहाँ मिली?

 यदि आप घोड़े की पीठ पर उपहार लटकाते तब भी घोड़े के लिए वजन समान ही होता, आप यात्रा में इस दर्द से पूर्ण रूप से बच सकते थे।

लड़के ने कहा, “मुझे लगता है कि तुम बिल्कुल सही कह रही हो। मुझे अपनी गलती का एहसास हो गया है।

 क्या हमें इसका एहसास होगा? हम अपने जीवन में क्या कर रहें हैं? हम वही काम नियमित रूप से कर रहे हैं, हम अपना वजन भगवान के हाथ पर छोड़ सकते हैं| क्योंकि भगवान पहले से ही हमारा वजन वहन करते हैं।

18 thoughts on “Stress Management in Hindi”

  1. Rishabh Bhardwaj

    Adorable story and meaning full moral for those who
    Understand this story.👍👍🤟🤟🙏

  2. Yash sharma

    The moral of the story is that don’t take any action that can harm or get ur body in stress coz stress is the most affective thing that cn harm u physically and mentally so don’t thak any type of stress..
    The overall story is awesome 👌

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *